क्या मुफ़लिसी में मरी प्रधानमंत्री की भतीजी । लानत है ऐसी ईमानदारी पर।

0
41

अभी कल ही प्रधानमंत्री मोदी जी की भतीजी का देहांत हो गया। 41 साल की भतीजी लंबे अरसे से  कैंसर से पीड़ित थी, वो अपने पति के साथ किराये के कमरे में रहती थी,

अलग अलग प्रतिक्रियाएं मिल रही सोशल मीडिया पर 

“एक तरफ घर में भतीजी निकुंजबेन की मौत का मातम है, दूसरी तरफ  कश्मीर का दर्द पर वो बंदा कभी परेशान नहीं होता…वो माँ भारती की सेवा के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर कर देता है, राजनीति में इससे अच्छा उदाहरण नहीं मिलेगा……
कपड़ेसिलकर और ट्यूशनपढ़ा_कर अपने पति का हाथ बंटाती थी उनकी भतीजी

सारे गम सीने में दफन कर मोदीजी लाओस में है, क्योंकि उनका एक ही लक्ष्य है, माँ- भारती को परमवैभव पर ले जाना……
क्या गाँधी
परिवार , मुलायम , मायावती , लालू , और

केजरीवाल के परिवार का सदस्य इस हाल में है………????
जिन टुचियों को ये सब सच्चाई नहीं दिखता उन्हें चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए….

मोदी को भी डूब मरना चाहिए ।

शर्म आनी चाहिए ऐसे आदमी को ।

सच कहते हैं लोग । भाजपा वालों को शासन करना नहीं आता ।

मुल्लायम जादो के कुनबे से सीख लो ।

करूणानिधि के कुनबे से सीख लो ।

मुलायम के घर का तो कुत्ता भी कम से कम ब्लाक प्रमुख तो है ही । सुना है कि सैफई कुनबे के 36 लोग ब्लॉक प्रमुख से ले के मुख्य मंत्री तक हैं ।

जिसके पास चटनी बनाने भर नून नहीं होता था वो कुनबा आज खरबपति है ।

इसी तरह करुणा निधि के कुनबे में भी 40 से ज़्यादा लोग राजनीति में हैं ।

इनका कुनबा भी खरबपति है ।

आज से 30 साल पहले दिल्ली के पास सिर्फ एक कमरे के एक घर में रहता था मायावती का परिवार । आज उनके भाई का बँगला ,लखनऊ में ताजमहल को फेल करता है ।

उधर मोदी की माँ ऑटो रिक्शा में सफर करती है । उनके भाई साधारण सी एक नौकरी करते हैं । एक भतीजी शिक्षा मित्र है । दूसरी कपडे सिल के और ट्यूशन पढ़ा के गुज़ारा करती थी ।

लानत है मोदी जी …….. आपसे इतना भी न हुआ कि अपने भाइयों को भी टिकट दे के MLA ,MP मंत्री बनवा देते । बहन बहनोई भी राज्यसभा में होते । भांजे जिला पंचायती लड़ते …….. अरे कुछ न होते तो क्या ब्लाक प्रमुखी को भी महंगे थे क्या ?

भांजे भतीजे अहमदाबाद दिल्ली में Liasoning lobbying करते …….. एकाध कोई रक्षा सौदा , कोई telecom की ठेकेदारी …….. कोई सड़क बनाने का ठेका ही ले लेते लौंडे ? अरे कुछ न होते तो कोई NGO ही खुलवा देते ???????

अरे Rafael सौदे में ही दिलवा देते 2 -4 करोड़ dollar ……..

गुडगाँव बीकानेर में किसानों से ज़मीन ही ले लेते , DLF के लिए ।

ईरान इराक़ से इतनी दोस्ती है । उनसे ही कुछ जुगाड़ लेते Oil for food जैसा …….

सुरेश प्रभु अपने आदमी हैं ……. रेलवे बोर्ड की दलाली , कुछ ट्रान्सफर पोस्टिंग में ही खा कमा लेते लौंडे ???????
जो आदमी अपने खानदान का ही विकास न कर पाया वो देश का क्या ख़ाक विकास करेगा ?

मोदी जी आपने और आपकी इमानदारी ने मेरा दिल तोड़ दिया ।

परिवारवाद की राजनीती को चोट की है आपने ।।”

उपरोक्त लेख शोशल मिडिया से साभारित है। इस लेख में लिखे शब्दो पर केस लीक किसी भी प्रकार का मत पेश नहीं करता है।

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here