गोवा में ब्रिक्स सम्मलेन आज से, पुतिन से मिलेंगे पीएम् मोदी

0
15

ब्रिक्स सम्मेलन आज से गोवा के बेनाउलिम स्थित फाइव स्टार रिजार्ट में हो रहा है। आज भारत और रूस के बीच कई समझौते होने हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बातचीत के लिए मिले जिसमें भारत के रूस-पाकिस्तान के बढ़ते सैन्य संबंधों को लेकर चिंता जताने और दोनों देशों के रक्षा एवं परमाणु उर्जा क्षेत्रों में विशेष साझेदारी को बढ़ावा देने की उम्मीद है। कोहरे के कारण नौ घंटे की देरी से गोवा पहुंचे पुतिन ने मोदी के साथ बातचीत की जिसके बाद दोनों नेताओं के साथ उनके शिष्टमंडल भी बैठक में शामिल होंगे। पीएम मोदी और पुतिन आज शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा, ‘हमें विभिन्न मुद्दों पर सार्थक बातचीत होने की उम्मीद है। रक्षा एवं सुरक्षा मुद्दों पर खास ध्यान दिया जाएगा।’ दोनों देशों के बातचीत के बाद दोपहर में एक दर्जन से अधिक समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है जिनमें रक्षा एवं उर्जा क्षेत्र से जुड़े समझौते खासतौर पर शामिल हैं।

जहां भारत और रूस के 200 कामोक हेलीकॉप्टरों के विनिर्माण का एक संयुक्त प्रतिष्ठान स्थापित करने के लिए एक जटिल समझौते और 4 नौसेना युद्धपोतों के लिए एक करार पर हस्ताक्षर करने की उम्मीद है, वहीं पांच अरब डॉलर की लागत से पांच एस 400 ट्रायम्फ वायु रक्षा प्रणालियों की खरीद के लिए बातचीत को लेकर आगे की कार्रवाई की उम्मीद है। मोदी और पुतिन साथ ही महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान प्रदान भी करेंगे। रूस में भारत के राजदूत पंकज सरन ने कहा, ‘भारत-रूस के संबंधों में द्विपक्षीय आयाम से ज्यादा कुछ हैं। क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दे हैं, विभिन्न महत्वपूर्ण मुद्दे हैं जिनसे रूस और भारत के हित जुड़े हुए हैं।’

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यहां खराब मौसम के कारण विमान के उतरने में मुश्किल पेश आने के चलते ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए आज 9 घंटे से भी अधिक समय की देरी से गोवा के आईएनएस हंसा अड्डे पर पहुंचे। पुतिन को यहां देर रात डेढ बजे पहुंचना था लेकिन वह अंतत: सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर यहां पहुंचे। दृश्यता संबंधी समस्या के कारण उनके विमान का मार्ग मुंबई की ओर परिवर्तित करना पड़ा था।

चीनी सामानों का बहिष्कार, अभियान के चलते चीन ने दी भारत को धमकी

नौसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आईएनएस हंसा अड्डे के आस-पास के इलाकों में घने कोहरे के कारण देर हुई। विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह और गोवा के उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूजा ने आईएनएस हंसा अड्डे पर पुतिन की अगवानी की। पुतिन ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए यहां आने वाले किसी अन्य देश के तीसरे राष्ट्राध्यक्ष हैं। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा और ब्राजील के राष्ट्रपति माइकल तेमेर यहां पहुंचे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल रात यहां पहुंचे थे। डाबोलिम हवाईअड्डे के निकट नौसेना के आईएनएस हंसा अड्डे में भारतीय नौसेना ने सभी देशों का राष्ट्रपतियों का रेड कार्पेट स्वागत किया।

मोदी ने ट्वीट के जरिए जुमा का भी स्वागत किया। उन्होंने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति का हार्दिक स्वागत है। आगामी दिनों में फलदायी बातचीत का इंतजार है।’ मोदी ने भारतीय अंदाज में ट्वीट करते हुए ब्राजील के राष्ट्रपति का स्वागत किया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘राष्ट्रपति माइकल तेमेर नमस्ते। ब्रिक्स 2016 शिखर सम्मेलन के लिए भारत में आपका स्वागत है।’ राज्यपाल मृदुला सिन्हा, मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर एवं उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूजा ने कल रात आईएनएस हंसा अड्डे पर प्रधानमंत्री मोदी की अगवानी की। उनका बाद में दक्षिण गोवा के बेनौलिम गांव स्थित रिसॉर्ट में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने स्वागत किया।



 

Comments

comments

Related posts:

पापा उस लड़की को एड्स है 
 उ. प्र. राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय के सभी कोर्सों में प्रवेश शुरू।  व्हाट्सएप से ही लें प्रवे...
संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में पहुंचीं सुषमा स्वराज न्यूयॉर्क, सोमवार को देगी पाकिस्तान के प्रधा...
पीएम मोदी ने कहा कि दो नए दोस्तों से एक पुराना दोस्त अच्छा. भारत और रूस के बीच सैन्य और ऊर्जा के क्ष...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here