डेढ़ लाख रुपये देकर रची थी बेटी की हत्या की साजिश

0
9

संतकबीरनगर जिले के धनघटा के जिगिना गांव के सीवान में चार फरवरी को मिले अधजले शव की पहचान हो गई है। लाश गोरखपुर के बेलघाट क्षेत्र के जितवापुर निवासी 28 वर्षीय रंजना यादव की थी। पुलिस की जांच में पता चला है कि पिता ने अपनी इज्जत के लिए डेढ़ लाख रुपये देकर बेटी की हत्या कराई थी। मारने वालों में वह खुद, युवती का भाई और जीजा भी शामिल थे। बाप-बेटे, बहनोई समेत चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी डॉक्टर कौस्तुभ ने बताया कि जिगिना गांव के सीवान में बने टिनशेड में मिला अधजला शव कैलाश यादव की पुत्री रंजना यादव का था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दम घुटने से मौत की पुष्टि हुई है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो रहा है कि गला दबाने से युवती का दम घुटा या धुएं से। मामले की जांच के दौरान एक सीसीटीवी फुटेज मिली, जिससे मामले के पर्दाफाश में काफी मदद मिली।

पिडिया के पास से रंजना के पिता कैलाश यादव, उसके भाई अजीत यादव और बहनोई सत्य प्रकाश यादव निवासी महोबरा और बहनोई के करीबी सीताराम यादव निवासी डोमडीह थाना महुली जिला संतकबीरनगर को गिरफ्तार किया गया है।

पूछताछ में कैलाश ने बताया कि वह आर्मी में सप्लाई विभाग में कार्यरत था। अगस्त 2019 में सेवानिवृत्त हुआ। उसकी छोटी बेटी रंजना का बेलघाट के शाहपुर निवासी एक बस मालिक से प्रेम संबंध था। दिसंबर 2019 में वह प्रेमी के साथ भाग गई थी। मामले में बेलघाट थाने में प्रेमी के खिलाफ हत्या की नीयत से अपहरण का केस दर्ज कराया गया था।

पुलिस का दबाव बढ़ा तो मार्च 2020 में बेटी वापस आ गई। उसने थाने में बयान दिया कि वह बालिग है और अपनी मर्जी से गई थी। इसके बाद भी बेटी बार-बार भागकर प्रेमी के घर चली जाती थी। इससे समाज में उनकी बदनामी हो रही थी।
 
कैलाश ने बताया कि बदनामी से तंग आकर उसने बेटी की हत्या की साजिश रची। दामाद सत्यप्रकाश यादव से इस बारे में बातचीत की। दामाद ने सीताराम से संपर्क कराया। फिर सीताराम ने वरुण तिवारी उर्फ पिंटू से मिलवाया। वरुण ने हत्या के लिए डेढ़ लाख रुपये की मांग की। कैलाश ने 1.35 लाख रुपये दे दिए। तीन फरवरी की रात वरुण अपने ड्राइवर दोस्त के साथ मैजिक लेकर कैलाश के घर पहुंचा।

अजीत रंजना के साथ मैजिक में बैठ गया, जबकि कैलाश बाइक से वरुण के साथ घर से निकला। रास्ते में रंजना ने शोर मचाने की कोशिश की तो अजीत ने उसका मुंह दबा दिया। इसके बाद वे रंजना को जिगिना के सीवान में टिनशेड में ले गए और पेट्रोल डालकर जला दिया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त बाइक और पेट्रोल के डिब्बे को बरामद कर लिया है। वरुण तिवारी और मैजिक ड्राइवर की तलाश की जा रही है। घटना का पर्दाफाश करने वाली टीम को टीम को आईजी बस्ती की ओर से 15000 रुपये और एसपी की ओर से 10000 रुपये का इनाम देने की घोषणा की गई है।

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here