दिल्ली जीबी रोड देह व्यापर मानव तस्करी के तार कई राज्यों से जुड़े हैं। जाने पूरी खबर… 

0
90

 देह व्यापार खरीद-फरोख्त का धंधा अब जीबी रोड तक सिमित नही रह गया है आस पास के कई राज्य इस की चपेट में है। मेरठ में कल रेड एरिया में पुलिस की रेड के दौरान 13 लड़कियां रिकवर हुईं, जिनमें कई नाबालिग हैं। यूपी पुलिस ने बताया है कि इन लड़कियों को नशे के इंजेक्शन देकर पहले दिल्ली ले जाया गया था, फिर मेरठ लाया गया। ये मानव तस्करी का मामला है। आशंका है कि पुलिस की रेड से पहले कई लड़कियों को कोठों से शिफ्ट कर दिया गया।

इस खुलासे से जाहिर है कि जीबी रोड व दिल्ली के आसपास के क्षेत्रों में लड़कियों की खरीद-फरोख्त करने वालों का साझा नेटवर्क है। चूंकि, दिल्ली में जीबी रोड पर मानव तस्करी का पहला मकोका केस दर्ज होने से कोठों पर हड़कंप मचा है, इसलिए आशंका है कि लड़कियों की खरीद-फरोख्त करने वालों ने गाजियाबाद, मेरठ, मुरादनगर व आसपास के इलाकों का रुख कर लिया है। जीबी रोड पर पुलिस की कार्रवाई से उन पर कोई खास फर्क नहीं पड़ा है। सिर्फ दिल्ली से दूरी बना ली है। दूसरी ओर यूपी पुलिस का दावा है कि वह रेड लाइट एरिया में जबरन देह व्यापार और मानव तस्करी के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रहे हैं।

एएचटीयू थाना प्रभारी रश्मिी चौधरी के मुताबिक, कल रिकवर लड़कियों में 4 कोलकाता से, 3 राजस्थान से, 4 नेपाल से और 2 बेंगलुरु से हैं। आज सभी का मेडिकल कराया जाएगा। पुलिस ने मौके से सात ग्राहकों को भी अरेस्ट किया। इससे पहले भी यहां देह व्यापार में धकेली गई नेपाल व अन्य राज्यों की लड़कियां रिकवर की जा चुकी हैं।
बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई शक्तिवाहिनी नामक एनजीओ की सूचना पर की गई। यह एनजीओ दिल्ली में भी एक्टिव है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, एनजीओ ने नेपाल समेत देश के दूर राज्यों से लाई गईं 20 से ज्यादा लड़कियों से जबरन देह व्यापार करवाए जाने की सूचना दी थी। इस बिनाह पर पुलिस ने रेड लाइट एरिया में रेड करके लड़कियों को रिकवर किया।

सूत्रों का कहना इस धंधे में लगे लोगों का सूचना तंत्र इतना मजबूत है कि वह पुलिस की मूवमेंट के बारे में जानकारी रखते हैं। जैसे ही देह व्यापार संबंधित शिकायत पर पुलिस हरकत में आती है, कोठा संचालकों को सूचना मिल जाती है। वह कम समय में लड़कियों को दूसरी जगह शिफ्ट करवा देते हैं। लड़कियों को नशे में रखा जाता है, ताकि वह विरोध न करें।

‘वेश्याओं को रोजी छीनने का डर’

आरोपियों के छह कोठे सील होने की सूचना से जीबी रोड पर हड़कंप मचा है। यहां लंबे समय से देह व्यापार करने वाली महिलाओं की अपनी रोजी-रोटी छीनने का डर सता रहा है। यहां लंबे समय से देह व्यापार कर रही महिलाओं का कहना है कि आफाक और सायरा ने क्या किया, वह नहीं जानती, लेकिन उनकी वजह से कोठा बंद हुआ तो उनका गुजारा कैसे होगा। एक महिला ने कहा कि, सुना है कि आफाक ने जीबी रोड से करोड़ो कमाए हैं, लेकिन कोठे से गुजारा करने वाली बहुत महिलाएं डेली 100-200 रुपये की मोहताज होती हैं।

Comments

comments

Related posts:

स्वदेशी बनाये चीनी उत्पादों का तब बहिस्कार करें - जनार्दन पाण्डेय
लीक हुए रिलाइंस जियो ब्रॉडबैंड टैरिफ प्लान 500, रूपये से होंगे शुरू
बढ़ते तनाव के कारण हुसैनीवाला और अटारी बॉर्डर बंद, बॉर्डर पर सभी डॉक्टरों की छुट्ट‍ियां रद्द!
रहिये सतर्क ! नोटबंदी से परेशान तत्व ,फैला सकते हैं इन तरीको से अराजकता ! जानिए और शेयर कीजिये !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here