नही हो पाएगी भारत-पाक के बीच हवाई यात्रा,PMO ने मांगी विमान सेवा पर रिपोर्ट…

0
66

नई दिल्ली। उरी हमले के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़े कदमों की शुरुआत कर दी है। भारत में पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन का बहिष्कार कर उसे सबसे बड़ा झटका दिया। पाकिस्तान को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा देने पर भी आज समीक्षा होनी है। इसके अलावा अब हवाई यात्राओं पर पाकिस्तान को झटका देने की तैयारी है।

पीएमओ ने भारत-पाकिस्तान के बीच उड़ानों पर रिपोर्ट तलब की है। पीएमओ भारत और पाकिस्तान के बीच एयर कनेक्टिविटी की समीक्षा करना चाहता है। पीएमओ ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय से इसकी जानकारी मांगी है। मोदी सरकार पाकिस्तान को एमएफएन दर्जे पर पुनर्विचार कर रही है और इसमें एयर कनेक्टिविटी भी एक मुद्दा होगा।

ग्रेंडमास्टर शिफुजी का यह नया विडियो महिलाओ और बच्चो के लिए नहीं है ! जबरदस्त आक्रोश है इसमें ! देखिये

उरी हमले के बाद भारत का रुख इस बार सख्त है। सबसे पहले सरकार ने सिंधु जल संधि पर समीक्षा बैठक बुलाई जिसमें पानी का अधिक से अधिकर इस्तेमाल और कई प्रोजेक्ट शुरू करने जैसे तमाम विकल्पों पर विचार हुआ। इसे लेकर पाकिस्तान इस कदर घबराया कि उसकने ने वर्ल्ड बैंक से गुहार भी लगाई।

आज पाकिस्तान को दिए गए एमएफएन दर्जे पर पीएम मोदी की अगुवाई में समीक्षा बैठक होनी है। अगर इस दर्जे को रद्द करने का फैसला होता है तो पाकिस्तान को ये दूसरा झटका होगा। इसी के साथ भारत एयर कनेक्टिविटी पर भी कड़ा फैसला ले सकता है। यानि दोनों देशों की बीच होने वाली उड़ानों पर भी भारत-पाक संबंधों का असर दिखेगा।

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here