बंदूक का निशाना चूकने पर डिग्री कालेज संचालक के चेहरे को गंडासे से काटा

0
33

कानपुर में पनकी थाना क्षेत्र के दमगड़ा गांव में डिग्री कालेज संचालक श्रवण कुमार पाल (55) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली लगने की पुष्टि नहीं हुई। बंदूक का निशाना चूकने पर हत्यारों ने श्रवण के सिर व चेहरे पर गड़ासे से वार पर वार कर उनको मार डाला।
जांच में पता चला है कि हत्यारोपियों ने बाबूपुरवा, बगाही में अपने मोबाइल बंद किए है। वहीं पर उनकी आखिरी लोकेशन मिली। सभी आरोपियों पर गैंगेस्टर की कार्रवाई होगी और मुख्य आरोपियों पर रासुका भी लगेगा। श्रवण कुमार पाल को बुधवार दोपहर गांव के ही पूर्व प्रधान के बेटे धर्मेंद्र व अमित ने मार डाला था।
पुलिस ने तीनों सगे भाई, धर्मेंद्र, अमित व संजय पर एफआईआर दर्ज की थी। सीओ कल्याणपुर ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि श्रवण को गोली नहीं लगी थी। दोपहर बाद गांव में हजारों लोगों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार हुआ।इस दौरान पूर्व सांसद राजाराम पाल, पूर्व विधायक मुनींद्र शुक्ला समेत अन्य लोग मौजूद रहे। तीनों आरोपी चार मोबाइल रखते हैं। संजय केपास दो मोबाइल हैं। घटना करीब तीन बजे की है। इसकेठीक एक घंटे बाद शाम तकरीबन चार बजे चारों मोबाइल एक साथ बंद हुए।पुलिस ने हत्यारोपियों के रिश्तेदार व परिचितों को मिलाकर करीब 15 लोगों को उठाकर पूछताछ शुरू की है। पुलिस के मुताबिक श्रवण के पिता राम अवतार की भी कई दशक पहले हत्या हुई थी। इसमें पांच छह लोग जेल गए थे। पुलिस इस बारे में और जानकारी जुटा रही है। 

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here