रहिये सतर्क ! नोटबंदी से परेशान तत्व ,फैला सकते हैं इन तरीको से अराजकता ! जानिए और शेयर कीजिये !

0
85

मोदी सरकार का नोट्बंदी इतिहास का सबसे अभूतपूर्व कदम माना जा रहा है ! जहाँ ईमानदारों को इस बात का हर्ष हैं वहीँ कालाधन वालो के लिए ये किसी दुसप्न से कम नहीं है ! सच तो ये है की अभी भी कालाधन वाले इस बात को स्वीकार नहीं कर पायें हैं कि उनके जीवन भर का ये गलत धन अब उनके किसी काम का नहीं रहेगा ! इसीलिए लगातार विरोधी मोदी सरकार पर जम कर प्रहार कर रहे हैं ! वास्तव में कालेधन वालो के लिए यह जीवन मरण का सवाल हो गया है, इस बात का जिक्र मोदी सरकार ने कल गोवा में भी किया ये कालेधन वाले उनके जान के दुश्मन बन गए हैं !

इसीलिए आप सभी को सतर्क होना पड़ेगा कि कैसे ये बैमान लोग अराजकता फैला कर इस मुहीम को चौपट करने का प्रयास करेंगे !

1- सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा अंधाधुन्द रेड करवाना 

सेल टैक्स का डिपार्टमेंट राज्य  सरकार के अंतर्गत आता है अतः कुछ राज्यों  की सरकार से लोगो को भय है की ये सेल्स टैक्स के नाम पर अराजकता फैला सकते हैं  ! रेड की इस कार्यवाही  को केंद्र सरकार की  समझ कर लोग भ्रमित हो रहे हैं अतः इस बात को निगाह में रखें की यह केंद्र द्वारा छापा नहीं है !

2- विरोधियों के बीच जाकर ही सर्वे करवाना 

कई  मीडिया को देखिये ,ये उन्ही तत्वों के बीच जाकर पूछेंगे जो भाजपा से भरपूर नफरत करते हैं  कि इस क़दम से आपको तकलीफ तो नहीँ हो रही.

अबे बिके हुये लोग, कालेधन वाले और ,विरोधी  जमात कभी मोदी जी के बारे मे अच्छा बोल भी सकता है क्या नहीं ही बोल सकते हैं

और वैसे  किसी  को कभी इसकी उम्मीद भी नहीँ है ,भले ही मोदी जी उनके लिये अपना सीना ही चीर के क्यूँ  ना दिखा दे ,फ़िर भी वो कभी मोदी जी के लिये अच्छा बोल ही नहीँ सकते.

3-गुंडों द्वारा भीड़,पंक्ति में मारपीट,हमला करवाना 

विश्वस्त सूत्रों के अनुसार अपने करोडो रुपये की फंडिंग की रकम के डूब जाने से बौखलाये हुये कालेधन वाले  अपने गैँग्स के गुण्डों के द्वारा बैंकों और डाकघरों के सामने लोगों की लम्बी कतार मे मारपीट और दंगा जैसे अराजकता फैला सकते हैं .इसमे इसका साथ वे तमाम नेता और दल देंगे जिनका पैसा डूब रहा है   मोदी जी के अचानक लिये गये इस ऐतिहासिक फैसले की वजह से.

4-अल्पसंख्यको को भड़काकर 

अल्पसंख्यको का हमेशा से इन राजनेताओ ने उपयोग किया है और इसी बात का फायदा कुछ नेता उठाना चाह रहे हैं , पूरी सम्भावना है की अल्पसंख्यको को मोदी सरकार के विरुद्ध भड़काकर दंगे जैसे हालत पैदा किये जाएँ अतः जितना हो सके लोगो कोइस मुहीम के फायदे समझाएं

आप लोग सावधान रहिये और परिचितों व औरों को भी इस बारे मे बताए और जागरूक कीजिये.

5-शोशल मिडिया पर भ्रामक खबरे फैलाकर 

विरोधी तत्व शोशाल मिडिया पर भरमाक खबरे तस्वीरे आदि फैलाकर अराजकता फ़ैलाने का पूर्ण प्रयास करेंगे अतः सावधान रहें और दूसरो तक सच पहुंचाएं !

जुड़ें हमारे फेसबुक पेज केसलीक से ,लाईक करें

 

 

पढ़िए  उन प्रतिक्रियाओ को पढ़िए जो शोशल मिडिया पर चल रही हैं

फेसबुक यूज़र  सतीश चन्द्र मिश्र के कीबोर्ड  से 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे जीवट वाले व्यक्ति ने जिस अंदाज़ में सार्वजनिक मंच से कहा है कि… ये लोग मुझे ज़िंदा नहीं छोड़ेंगे… इससे यह स्पष्ट हो गया है कि स्थिति बहुत भयंकर और असहनीय रूप ले चुकी है…..
एक अकेला व्यक्ति 125 करोड़ हिंदुस्तानियों के हिस्से का ज़हर “नीलकण्ठ” महादेव बनकर पी रहा है. अतः अब हमारी आपकी यह जिम्मेदारी बढ़ गयी है कि 8 नवम्बर के बाद से प्रधानमंत्री के खिलाफ पूरी ताक़त से सक्रिय हो चुके मीडियाई कुत्तों और सियासी भेड़ियों के झुण्ड पर अपने पास उपलब्ध सोशलमीडिया के हर माध्यम को हथियार बनाकर भूखे शेरों की तरह टूट पड़ें…
और उनके कपडे ही नहीं खाल तक उतार लें.
इसके लिए आइये आज अभी प्रण करें कि अगले एक महीने तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विषय में हम कुछ लिखें या ना लिखें किन्तु इन कुत्तों और भेड़ियों के खिलाफ रोज कम से कम दो पोस्ट जरूर लिखेंगे.और अपने अपने गृहक्षेत्र कार्यक्षेत्र में इन कुत्तों और भेड़ियों के खिलाफ जनमानस तैयार करेंगे.

एक अन्य यूज़र के कीबोर्ड  से 

आज के हालात में मोदी जी की जान को कदम-कदम पर खतरा मंडरा रहा है सारी राजनीतिक पार्टियां उनके खून की प्यासी हो चुकी है और इस खतरे को मोदी जी भी भांप चुके हैं यहीं कारण है आज पहली बार उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि राजनीतिक विरोधी मुझे जिंदा नहीं छोड़ेंगे वो मुझे बर्बाद करने पर तुले है चाहे मुझे जिंदा ही क्यों न जला दे लेकिन मेरे होते हुए इस देश की एक-एक पाई का हिसाब लेकर रहूंगा। आज उन्होंने भाषण समाप्ति के बाद जिस प्रकार लोगों का अभिवादन किया वो ऐसा लग रहा था जैसे कोई इंसान अपने जीवन पर होने वाले खतरे को महसूस कर रहा हो।
गद्दारों का अस्तित्व समाप्त करने के लिए मोदी जी अब अपनी पूरी ताकत लगा रहे हैं वे उनके द्वारा अब तक लूटी गई काली कमाई को बाहर निकालने के लिए चुनौती दे रहे हैं और कह रहे हैं कि वे किसी भी कालेधन वाले को छोड़ने वाले नहीं हैं।
देशहित में की गई कालेधन की कार्यवाही के बाद जिस तरह पूरा विपक्ष एक होकर अपनी कमाई बचाने के लिए मोदी जी पर हमले कर रहे हैं जिस कारण उनके कंगाल होने का खतरा मंडरा रहा है विपक्षियों की हताशा साबित कर रही है कि वह अपना अस्तित्व बचाने के लिए किसी भी हद से गुजरने को तैयार बैठे हैं।
ममता, केजरी, राहुल, माया, मुलायम, लालू व कई राजनीतिक दल रोज कुछ न कुछ षड्यंत्र कर जनता में अराजकता फैलाने पर उतर आए हैं। और आगे पता नहीं क्या क्या षड्यंत्र करेंगे।
शिवसेना जैसी सहयोगी पार्टी भी इस फैसले की निंदा कर रही है।
ममता अपने धुर विरोधी दल कम्युनिस्ट पार्टी से सहयोग मांग रही है।
राहुल 4000 रू के लिए लाईन में लग रहे  है।
और इन सबकी वजह सिर्फ यही है कि लोगों में आक्रोश पैदा किया जाए।
सबसे ज्यादा सोचने वाली बात तो यह है कि शरद पवार जैसे  व्यक्ति जिसके पास बेशुमार काली कमाई है जिसके घर दाउद के फोन की लोकेशन पाई जाती है।वह मोदी जी के कार्यशैली की तारीफ कर रहा है अचानक मोदी जी की तारीफो के पुल बांध रहा है आखिर इसके पीछे क्या षड्यंत्र रचा जा रहा है ? कहीं ये मोदी जी को नुकसान पहुंचा कर खूद को उनका हितेशी बनने का तरीका तो नहीं ?
मित्रो कहीं न कहीं देश के गद्दार बड़ा षड्यंत्र रच रहे हैं मोदीजी को अपने रास्ते से हटाने का ब्लू प्रिंट तैयार किया जा रहा है देश कि जनता को भड़का कर उत्पात मचाया जा सकता है जिसका सबूत नमक, शक्कर जैसी चीजों की अफवाहें फैलाना है अभी तो मात्र 4 दिन हुए हैं आगे तो भगवान् ही मालिक है।
मित्रों मै ये बात इसलिए कह रहा हूँ कहीं देर न हो जाए, कुछ पाने से पहले ही हम सब कुछ न खो जाए उसके पहले ही हमें सड़कों पर उतर कर मोदी के साथ खड़े होना ही पडेगा। क्योंकि हमारी एकमात्र उम्मीद सिर्फ और सिर्फ मोदी जी ही है आज उनकी जान की कीमत मेरे जैसे हजारो लोगों से भी बढ़कर है। अब वक्त आ गया है कि हमे अपनी वैचारिक शक्ति के साथ साथ ताकत भी दिखाना आवश्यक हो गया है जिसके लिए हमें सड़कों पर उतर कर मोदी जी के काम में सहयोग करना ही होगा। विपक्षियों को अब अपनी ताकत दिखाने का वक्त आ गया है कृपया अपने अपने क्षेत्र में अपने सहयोगियों को साथ लेकर व्यवस्था परिवर्तन में सहयोग करें। जिससे देश के गद्दारों के हौसले को तोड़ा जा सके।

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here