वापस कर रही हैं मायावती पैसा प्रत्याशियो का ! कार्यालय से गाडी में बैग भर भर के भागे नेता

0
123

पीएम नरेंद्र मोदी के 1000 और 500 के नोट बैन के बाद आजकल राजधानी स्थित बसपा दफ्तर में काफी गहमागहमी बढ़ गई है। बुधवार को अचानक करीब 100 गाडियां बसपा दफ्तर पहुंची। बसपा दफ्तर पहुंचने वालों में न सिर्फ विधानसभा उम्मीदवार थे बल्कि पार्टी के जिम्मेदार नेता भी शामिल थे। साथ ही सभी गाड़ियों में ब्रीफकेस और बैग भरे हुए थे। सभी गाडियां एक-एक करके अन्दर जा रहीं थीं और उनके वापस आने के बाद ही दूसरी गाड़ी को अन्दर जाने की इजाजत थी। इस घटना को देखने वालों के मन में कई तरह के प्रश्न घूम रहें हैं।

अचानक पहुंचा गाड़ियों का हुजूम हालांकि बसपा नेताओं का कहना है कि यहां प्रत्याशियों की मीटिंग थी और जो बैग अन्दर गए हैं उनमें चुनाव के पम्पलेट भरे हुए थे। इन्हें प्रचार के लिए भेजा जाने वाला है।

मोदी के फैसले के बाद BSP दफ्तर में मचा हड़कंप, गाड़ी में बैग भर-भर के भागने लगे नेता
bspbsp

खास बात ये है कि जिस बसपा कार्यालय में अब तक केवल तीन नेताओं की गाड़ी को प्रवेश दिया जाता था, उसी कार्यालय का मुख्य द्वार सभी प्रत्याशियों की गाड़ियों के लिए खोल दिए गए। इन सब बातों को देखते हुए सवाल उठने तो लाजमी हैं।

नोटों की गड्डियां वापस लौटाने के लिए आई थीं गाड़ियां वहीं इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने 8 नवंबर को देर रात अपने मुख्य सलाहकार नसीमुद्दीन सिद्दीकी और सतीश चन्द्र मिश्रा से मुलाकात की और आनन फानन में गुरूवार की दोपहर पार्टी के प्रत्याशियों की बैठक बुलाई। वहीं इस बैठक को लेकर विपक्षी दलों ने आरोप लगाया है कि मायावती ने टिकट के बदले लिए गए नोटों की गड्डियां वापस लौटाने के लिए पार्टी प्रत्याशियों को बुलाया था, जिसे बैठक का नाम दिया गया है।

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here