कांग्रेस नेता विकास चौधरी की हत्‍या की साज‍िश दुबई में रची गई थी

0
54
by Anurag mishra Annu

नई दिल्ली/फरीदाबाद, हरियाणा के फरीदाबाद में कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी की दिनदहाड़े हुई हत्या की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही नए-नए खुलासे हो रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, अंडरव‌र्ल्ड डॉन की तरह दुबई में बैठकर कुख्यात गैंगस्टर कौशल गडोली ने कांग्रेस नेता विकास चौधरी की साजिश रची थी और फिर इसे अंजाम देने के लिए अपनी पत्नी रोशनी और घरेलू सहायक नरेश को शामिल कर लिया था । जिसमें विकास चौधरी को जान गंवानी पड़ी

जहां तक गैंगस्टर कौशल के साम्राज्य की बात है तो गुरुग्राम सहित पूरे हरियाणा ही नहीं दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश के अधिकतर इलाकों में अपने आतंक के खेल चला रहा है। फिलहाल दुबई में वह कहां रहता है? यह गैंग के कुख्यात शूटरों को भी नहीं पता। हां, गैंग के गुर्गे कहां-कहां रह रहे हैं, पूरी जानकारी उसे रहती है।

यह जानकारी पिछले महीने मई में क्राइम ब्रांच पालम विहार की टीम के हत्थे चढ़े गैंग के कुख्यात शूटरों से पूछताछ में सामने आई थी। लंबे समय से हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, फिरौती, अपहरण, रंगदारी सहित कई मामलों के लिए कुख्यात गैंगस्टर कौशल व उसके गुर्गों की तलाश पुलिस को है। पहली बार मई महीने में गैंग के छह कुख्यात शूटर रणबीर सैनी, आशु (हुक्का), सुमित, गौरव (चिंटू), सतीश (पव्वा) एवं सुशील (मलिंगा) 25 अप्रैल को क्राइम ब्रांच पालम विहार की टीम के हत्थे चढ़े थे।

एक साथ इतनी संख्या में कुख्यात गैंगस्टर पहले कभी भी हत्थे नहीं चढ़े थे।इसलिए इसे गुरुग्राम पुलिस की अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी माना जा रहा है,

सूत्रों के मुताबिक शूटरों को इतना पता है कि सरगना फिलहाल दुबई में बैठा है। वह वाट्सएप कॉल से सभी से बातचीत करता है। इससे उसकी कॉल रिकॉर्ड नहीं हो पाती है। यही नहीं कॉल कहां से की जा रही है, इसका पता नहीं लगाया जा सकता है। मौके पर पहुंचने से पहले प्लानिंग का पता नहीं होता वारदात को अंजाम देने से कुछ ही मिनट पहले गुर्गों को सूचना दी जाती है कि क्या करना है। इससे पहले उन्हें केवल मौके पर पहुंचने का आदेश दिया जाता है। अधिकतर वारदात के लिए मौके पर तीन से चार गुर्गे अलग-अलग पहुंचते हैं। मौके पर ही सभी की मुलाकात होती है। इससे पहले उन्हें नहीं पता होता है कि कौन-कौन आने वाला है। जब सभी मौके पर पहुंच जाते हैं फिर उन्हें सूचना दी जाती है कि अमूक वारदात को अंजाम देना है।

बता दें कि गुरुग्राम के इंस्पेक्टर बिजेंद्र हुड्डा के नेतृत्व में ही कई साल पहले कुख्यात गैंगस्टर सूबे गुर्जर को गिरफ्तार किया था। फिलहाल वह गैंगस्टर कौशल की तरह ही पुलिस की पकड़ से दूर है। उसके ऊपर पांच लाख का इनाम है। बदमाश कितने भी शातिर क्यों न हों, पुलिस की पकड़ से अधिक दिन तक दूर नहीं रह सकते। गैंगस्टर कौशल के गैंग को पूरी तरह समाप्त करने की दिशा में प्रयास चल रहे हैं। गैंग के सभी गुर्गों के साथ ही सरगना भी जल्द पुलिस की गिरफ्त में होगा। 

बृहस्पतिवार सुबह 9 बजे फरीदाबाद सेक्टर-9 में हमलावरों ने विकास चौधरी को 8 से 10 गोलियां मारी थी। विकास को सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।बताया जा रहा है कि विकास चौधरी हरियाणा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता थे।

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here