पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का निधन

0
34

केंद्र सरकार में पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का देहांत हो गया है. वह बुधवार रात तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक में मौजूद थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अनिल माधव की मौत पर दुख जताया. अनिल माधव दवे 60 साल के थे. वह काफी समय से बीमार थे, और एम्स में भर्ती थे. दवे 5 जुलाई 2016 में केंद्रीय मंत्री बने थे, वह मध्यप्रदेश बीजेपी का बड़ा चेहरा थे.

 मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख
नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को अनिल दवे के निधन पर दुख जताया. कहा- दोस्त और एक आदर्श साथी के तौर पर अनिल माधव दवे जी की मौत से दुखी हूं. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे. लोक हित के काम के लिए दवे जी को याद रखा जाएगा. कल शाम ही वे मेरे साथ थे. हमने कुछ पॉलिसी इश्यू पर चर्चा भी की थी. उनका जाना मेरे लिए निजी क्षति है.
 

दो सेशन से नहीं आ रहे थे संसद
जानकारी के मुताबिक, अनिल दवे पिछले दो सत्र से सेशन में नहीं आ रहे थे. उनकी जगह प्रकाश जावड़ेकर सदन में उनका कामकाज संभाल रहे थे. वे छुट्टी पर थे. बीच में संसद आते थे, मेडिकल विंग में चेकअप के लिए आते थे. मंत्रालय आकर कामकाज संभालने की स्थिति में नहीं थे, पर अक्सर आते थे. 5 जुलाई 2016 में उन्हें मंत्री बनाया गया था.

संघ से ताल्लुक रखने वाले अनिल दवे को एक प्रखर प्रवक्ता के तौर पर जाना जाता था. हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा पर अच्छी पकड़ थी. प्रश्नकाल में सवालों का जो जवाब देते थे उसके लिए विपक्ष भी उनकी तारीफ करते थे.

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here