समाजवादी पार्टी में सुलह के आसार, ढाई घंटे चली पिता और पुत्र की मुलाकात

0
52

समाजवादी पार्टी में पिछले कई दिनों से जारी घमासान जल्द खत्म हो सकता है. मुलायम सिंह के रुख में आई नरमी के बाद माना जा रहा है कि दोनों पक्षों के बीच जल्द ही सहमति बन सकती है. मंगलवार को लखनऊ में मुलायम सिंह के साथ अखिलेश यादव की मीटिंग हुई. ये बैठक करीब पौने दो घंटे चली. बंद दरवाजे के पीछे हुई अखिलेश और मुलायम की इस मुलाकात से कयास लगाए जा रहे हैं कि सुलह पर सहमति बन गई है.

इससे पहले मुलायम सिंह यादव ने परिवार में घमासान से जुड़े मीडिया के सवालों का कोई जववाब नहीं दिया. सोमवार को मुलायम सिंह ने अपना रुख नरम करते हुए कहा था कि समाजवादी पार्टी में अब कोई विवाद नहीं है और अखिलेश यादव ही पार्टी की ओर से अगले मुख्यमंत्री होंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी एक है और वो अखिलेश के लिए राज्यभर में प्रचार करेंगे. मुलायम की मानें तो समाजवादी पार्टी में बिखराव का सवाल ही नहीं उठता है. यानी मुलायम गुट ने अखिलेश गुट के सामने घुटने टेक दिए.

इससे पहले मुलायम सिंह यादव सोमवार को चुनाव आयोग गए और पार्टी चिह्न  साईकिल पर दावा जताया. मुलायम सिंह ने कहा कि पार्टी सिंबल पर फैसला आयोग करेगा. हमने अपनी बात चुनाव आयोग के सामने रख दी है. इससे पहले मुलायम सिंह यादव ने अमर सिंह और शिवपाल के साथ मीटिंग कर इस मामले पर चर्चा की. मुलायम सिंह के साथ अमर सिंह भी चुनाव आयोग गए थे. 9 जनवरी को चुनाव आयोग के सामने जवाब दाखिल करने का आखिरी दिन था.

भारत-फ्रांस संबंधों को आगे बढ़ाने की दरकार: फ्रांस के विदेश मंत्री

इस बीच, अखिलेश गुट ने भी चुनाव आयोग से मिलकर  पार्टी सिम्बल पर अपना दावा पेश किया. रामगोपाल यादव ने कहा कि पार्टी सभी जरूरी दस्तावेज पहले ही पेश कर चुकी है और आयोग से जल्द फैसले का आग्रह किया है. उन्होंने कहा कि अगर चुनाव आयोग साइकिल को फ्रीज कर देता है तो ऐसे हालात में वो आयोग से ‘मोटरसाइकिल’ को चुनाव-चिह्न के लिए मांग करेंगे.

इससे पहले, चुनाव आयोग के सामने अपनी बात रखने के बाद मुलायम सिंह मीडिया से मुखातिब हुए. मुलायम सिंह ने कहा कि पार्टी सिंबल पर फैसला आयोग करेगा. हम एक पत्र जारी करेंगे उसी के आधार पर उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे. मुलायम सिंह ने कहा कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं हैं. जो थोड़े-बहुत हैं वे जल्द ही सुलझा लिए जाएंगे. मुलायम सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से चुनाव की तैयारियों में जुटने को कहा. साथ ही कहा कि बेटे से कोई मतभेद नहीं है. मुलायम सिंह ने कहा कि कुछ लोग अखिलेश को बहका रहे हैं. अखिलेश बेटा है क्या किया जा सकता है. जल्द सभी मतभेद सुलझ जाएंगे.

Comments

comments

Related posts:

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुलाई बैठक सिंधु के पानी को तरसेगा पाक! समझौते की होगी समीक्षा....
दुनिया में किसी से कम नही भारत, 500 परमाणु बम बनाने क्षमता रखता है भारत...
आम आदमी को मिली राहत, 500 और 1000 के पुराने नोट अब 30 नवम्बर तक मान्य रहेंगे, देखिये पूरी जानकारी...
एटीएम से निकले दो हज़ार के नकली नोट, नोट पर लिखा है "भारतीय मनोरंजन बैंक"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here