SCAM मतलब- सपा, कांग्रेस, अखिलेश और मायावती- मेरठ में बोले पीएम मोदी

0
54

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक रैली को संबोधित किया. पीएम ने इस मौके पर कहा कि मुझे मेरठ की पवित्र धरती पर आने का सौभाग्य मिला. मेरठ की आजादी के आंदोलन में बड़ी भूमिका है. यहां के मंगल पांडे ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी. 1857 की क्रांति में मेरठ का मुख्य योगदान है. उस समय अंग्रेजों से मुक्ति की लड़ाई थी, अब भ्रष्टाचार से मुक्ति की लड़ाई है. पीएम ने कहा कि 1857 के स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल यहीं से बजा था और मैं भी मेरठ की धरती से परिवर्तन का बिगुल बजा रहा हूं. बहन-बेटियों की इज्जत लूटने वाले और शोषण करने वालों के खिलाफ ये लड़ाई है.

पीएम ने बताया SCAM का मतलब
पीएम मोदी ने कहा कि ये चुनाव स्कैम के खिलाफ है. यहां उन्होंने ‘स्कैम’ का मतलब समझाते हुए कहा, “एस मतलब सपा, सी मतलब कांग्रेस, ए मतलब अखिलेश और एम मतलब मायावती.”. जब तक उत्तर प्रदेश को SCAM से मुक्त नहीं करोगे तब तक यहां सुख चैन नहीं आएगा. इन्होंने जिनको जमीनों का माफिया कहा ऐसा लोगों को इन्होंने टिकट दिया, क्योंकि इनके इरादे नेक नहीं हैं.

मेरठ में पीएम मोदी की रैली, बोले- UP को भ्रष्टाचार से मुक्त कराने की लड़ाई

‘विकास पर खर्च नहीं कर पाई राज्य सरकार’
पीएम ने कहा कि गरीबों को बीमारी में सरकार की तरफ से मदद मिले, इसके लिए भारत सरकार ने यूपी सरकार को 4 हजार करोड़ दिए. 4 हजार करोड़ में से ढाई हजार करोड़ भी खर्च नहीं किए, जो भी खर्च किए उसका हिसाब भी अभी तक नहीं दे पाए. यूपी बड़ा है इसलिए मैंने 7 हजार करोड़ दिए, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार इस पैसे को भी खर्च नहीं कर पाई. यूपी सरकार ने वोटबैंक के लिए पैसा खर्च नहीं किया, यूपी सरकार ने धर्म-जाति के आधार पर बीमारी को भी तौला. भारत सरकार ने अमृत योजना बनाई इसके तहत 7 हजार 2 सौ करोड़ दिया गया, लेकिन खर्च किया 400 करोड़. पीएम ने कहा कि सफाई अभियान के लिए यूपी सरकार को केंद्र ने साढ़े 9 सौ करोड़ दिया, और ये 40 करोड़ भी नहीं खर्च कर पाए. यूपी ने मुझे प्रधानमंत्री बनाया है इसलिए दिल्ली सरकार यहां के लिए कुछ भी करने को तैयार है. आजादी के 70 साल के बाद आज सभी के पास घर होना चाहिए, इसलिए भारत 2022 तक हिंदुस्तान के सभी लोगों के पास अपना घर होगा.

पीएम ने किये कई वादे 
पीएम ने वादों की बौछार करते हुए कहा कि बीजेपी सरकार बनते ही लघु और सीमांत किसानों का फसल कर्ज माफ होगा. मैं वचन देता हूं, मैं दिल्ली से देखूंगा कि मेरा किया वादा पूरा किया या नहीं. गन्ना किसानों के लिए वादा किया है कि अब 14 दिनों में गन्ना किसानों का भुगतान कर दिया जाएगा. किसानों के नाम पर यात्रा करने वाले किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले से पूछता हूं इन किसानों का 22 हजार करोड़ क्यों बकाया था.

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here