लखनऊ में डेंगू से दो की मौत

0
39

बंगला बाजार के उसरी निवासी रामबाबू की पत्नी कामिनी (25) को हफ्ते भर से तेज बुखार था। उनका इलाज निजी अस्पताल से चल रहा था। निजी पैथोलॉजी में हुई जांच में डेंगू की पुष्टि हुई। शुक्रवार रात हालत बिगड़ने पर तीमारदारों ने सिविल अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती कराया। शनिवार सुबह पांच बजे इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। वहीं, इसी मुहल्ले के गुड्डू रावत (45) को चार दिन से बुखार आ रहा था। उनका निजी अस्पताल से इलाज चल रहा था। शुक्रवार रात अचानक हालत बिगड़ने पर लोकबंधु अस्पताल ले जाने की तैयारी के बीच गुड्डू ने दम तोड़ दिया। तीमारदारों ने डेंगू से मौत होने की बात कही है। मुहल्ले के कई अन्य लोग बुखार की जद में हैं। उधर, स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि इन मौतों के बारे में जानकारी नहीं है।
रहस्मय बुखार की चपेट में था मासूम
निगोहां में शनिवार तड़के इलाज न मिलने से मासूम की मौत हो गई। वह तीन दिन से बुखार से पीड़ित था। अमीना बेगम के बेटे कामरान (7) को शुक्रवार को बुखार आया था। वह शाम को उसे लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचीं, लेकिन वहां कोई मिला नहीं। इस पर उन्होंने बेटे के सिर पर गीली पट्टी रखना शुरू किया और निजी अस्पताल से लेकर दवा खिलाई। इससे उसे राहत मिली। हालांकि, शनिवार सुबह चार बजे अचानक कामरान की हालत बिगड़ गई। निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Comments

comments

Related posts:

अलीगढ़ में प्राइवेट जेट प्लेन दुर्घटनाग्रस्त, विमान में सवार सभी 6 लोग बाल - बाल बचे
अमेठी: पेट्रोल पंप के कर्मी के बेटे को मिला 21 लाख का पैकेज, मां-बाप बोले- सार्थक हुई दुख तकलीफ
IIT कानपुर के वरिष्ठ प्रोफेसर पर फ्रांस की छात्रा ने लगाया छेड़छाड़ का आरोप,
लोकबंधु अस्पताल में इलाज के दौरान मासूम की मौत, लापरवाही का आरोप,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here