ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित होने के बावजूद कैसे हासिल की निगेटिव रिपोर्ट,

0
8

कर्नाटक में कोरोना वायरस के ओमीक्रॉन वैरिएंट के मामले सामने आने के एक दिन बाद राज्य सरकार ने 66 वर्षीय दक्षिण अफ्रीकी नागरिक की निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट की जांच का आदेश दिया। बताया गया है कि इसी रिपोर्ट के जरिए उसे देश छोड़ने की अनुमति मिली थी।

बेंगलुरु से अब तक करीब 10 दक्षिण अफ्रीकी यात्रियों के लापता होने की खबरें आ चुकी हैं। इस बीच सरकार ने अधिकारियों से मामले पर गौर करने, उन लोगों का तुरंत पता लगाने और जांच करने का निर्देश दिया। राजस्व मंत्री आर अशोक ने कहा, ‘‘वह व्यक्ति (66 वर्षीय) एक होटल में पृथक-वास में था और वह यहां से (देश के बाहर) चला गया है। पहले उसकी (कोविड जांच की) रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई और फिर दोबारा जांच रिपोर्ट निगेटिव आई। कहीं कोई गड़बड़ी तो नहीं हुई, प्रयोगशाला की जांच सही थी या नहीं या फिर कुछ गड़बड़ी हुई, पुलिस आयुक्त को इसकी जांच के निर्देश दिए गए हैं।’’

केस दर्ज करने के निर्देश दिए गए
मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक में हिस्सा लेने के बाद पत्रकारों से राजस्व मंत्री ने कहा कि बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका आयुक्त को इस संबंध में शहर के हाई ग्राउंड थाने में मामला दर्ज करने का निर्देश दिया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि दक्षिण अफ्रीकी नागरिक 20 नवंबर को बेंगलुरु आया था और उसके नमूने हवाई अड्डे पर एकत्र किए गए थे। बाद में उसके संक्रमित होने की पुष्टि हुई और उसके सैंपल्स जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए, इसकी रिपोर्ट गुरुवार को मिली, जिसमें पुष्टि की गई कि वह कोरोना के ओमीक्रॉन स्वरूप से संक्रमित था।

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here