वायरल फीवर के मरीज बढ़े,

0
33

ऋषिकेश। योगनगरी में वायरल फीवर के मामले बढ़ रहे हैं। एसपीएस राजकीय चिकित्सालय की ओपीडी में आने वाले वायरल मरीजों की संख्या बीते दो हफ्तों में दोगुनी हो गई है। वायरल फीवर के मरीजों में कोरोना संक्रमण से मिलते जुलते लक्षण मिल रहे हैं। असमंजस के चलते मरीज पहले अपनी कोरोना जांच करा रहे हैं। रिपोर्ट नेगेटिव आने बाद मरीज इलाज के लिए अस्पताल में पहुंच रहे हैं।

एसपीएस राजकीय अस्पताल के सीएमएस डॉ.विजयेश भारद्वाज ने बताया कि बुधवार को ओपीडी में 510 मरीज दिखाने आए। उन्होंने बताया कि इसमें वायरल फीवर के मरीज सबसे अधिक थे। उन्होंने बताया कि मरीजों में बुखार, खांसी, सिरदर्द, छाती और सांस लेने में परेशानी और शरीर में जकड़न जैसे लक्षण है। ये सभी लक्षण कोरोना वायरस के लक्षणों से मिलते जुलते हैं। लेकिन सभी मरीजों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव थी। उन्होंने बताया कि वायरल फीवर का समय भी बड़ा है। पहले मरीज पांच से सात दिन में पूरी तरह से स्वस्थ हो जाते थे। लेकिन अब मरीजों को ठीक होने में 10 से 15 दिन का समय लग रहा है।

वायरल फीवर के नए लक्षण
गले में दर्द, सिर दर्द, जोड़ों में दर्द, छाती में दर्द, तेज बुखार, खांसी, सांस फूलना, आंखों का लाल होना, उल्टी या मितली आना, बेहद थकान, दस्त, शरीर में जकड़न।
कोरोना के लक्षण
बुखार, सूखी खांसी, थकान, गले में खराश, दर्द, गंध न पता चलना, त्वचा में चकत्ते, आंख आना, हाथ पैर की उंगलियों का रंग बदलना, सांस लेने में दिक्कत या सांस फूलना, सीने में दर्द या दबाव, बोलने, चलने-फिरने में असमर्थता
ये सावधानी बरतें
मास्क लगाकर रखें, गुनगुना पानी पीए, एसी कूलर चलाकर न सोएं, गुनगुने पानी और नमक के गरारे करें, छाती में जकड़न महसूस होने पर भांप लें, परेशानी बढ़ने पर तत्काल चिकित्सक की सलाह लें।

Comments

comments

share it...