रेलकर्मी की मौत में पत्नी समेत चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा

0
48

सिविल लाइंस स्थित रेलवे कॉलोनी निवासी रेलकर्मी निजामुद्दीन(55) की मौत के मामले में पत्नी समेत चार पर हत्या का केस दर्ज कराया गया है। बहन शकीला की ओर से दर्ज कराए गए इस मुकदमे में आरोप लगाया गया है कि पत्नी अपने बहन के बेटे को नॉमिनी बनाने का दबाव बनाती थी और ऐसा न करने पर ही उसने तीन अन्य लोगों संग मिलकर उसकेभाई को मार डाला। कोर्ट के आदेश पर यह मुकदमा दर्ज हुआ है।

शकीला निवासी नगम निगम कॉलोनी सिविल लाइंस ने पुलिस को बताया कि 17 मार्च की शाम उनकेभाई की संदिग्ध हाल में मौत हो गई थी। उन्होंने 15 साल पहले परवीन बानो निवासी मिर्जापुर चुनार से शादी की थी लेकिन उनकी कोई औलाद नहीं थी। आरोप है कि परवीन अपनी बहन के लड़के अल्तमस, जो हमेशा उसकेघर आता था, को फंड-बोनस के लिए उत्तराधिकारी बनाने का दबाव बनाती थी जिसके लिए उनका भाई तैयार नहीं था।

पांच मार्च को वह उनकेभाई को लेकर अपने मायकेगई जहां न सिर्फ उसने बल्कि उसकी मां इजराइल व मां राबिया ने भी दबाव बनाया लेकिन उनका भाई अल्तमस को उत्तराधिकारी बनाने केलिए तैयार नहीं हुआ। जिसके बाद वह उन्हें लेकर लौट आई। 17 मार्च को दोपहर में वह ड्यूटी से लौटे और इसकेबाद अचानक उनकी तबियत बिगड़ गई। अस्पताल ले जाने के कुछ देर बाद ही उनकी मौत हो गई। इसके बाद पहुंची पुलिस ने वहीं पंचायतनामा भरा और फिर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा।
 
पोस्टमार्टम में मौत का कारण स्पष्ट न होने पर विसरा प्रिजर्व कर लिया गया। शकीला का आरोप है कि उनके भाई की एक साल की नौकरी शेष थी। जिसे पाने केलिए ही उनकी पत्नी परवीन ने अपने मां-बाप व बहन केलड़के संग मिलकर उन्हें जहर देकर मार डाला। घटना केबाद से ही वह सिविल लाइंस थाने केचक्कर काट रही है लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट नहीं दर्ज की। जिसके बाद उसने कोर्ट में गुहार लगाई।

Comments

comments

share it...