प्रतापगढ़ :कार की टक्कर से पत्नी की मौत, पति की हालत गंभीर

0
17
प्रतीकात्मक चित्र


रखहा। चिलबिला-पट्टी मार्ग पर नरसिंहपुर के करीब बेकाबू कार ने बाइक सवार दंपति को टक्कर मार दी। जिससे पत्नी की मौत हो गई। पति गंभीर रूप से घायल हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से उसे जिला अस्पताल भेजा, जहां से डॉक्टरों ने प्रयागराज रेफर कर दिया।
कंधई थाना क्षेत्र के मौलानी शीतलागंज निवासी मोहम्मद मुर्तजा की बेटी महजबीन (22) की शादी 7 जून 2019 को रानीगंज थाना क्षेत्र के बुढ़ौरा निवासी किस्मत अली (25) पुत्र इसरार अली के साथ हुई थी। इन दिनों महजबीन की तबियत खराब चल रही थी। मंगलवार को वह महजबीन को लेकर पट्टी दवा लेने जा रहा था। चिलबिला-पट्टी मार्ग पर नरसिंहपुर के करीब सामने से आ रही कार ने किस्मत अली की बाइक में टक्कर मार दी। जिससे बाइक समेत किस्मत दूर तक घसीटता चला गया। महजबीन सिर के बल सड़क पर गिर पड़ी। घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। किस्मत अली गंभीर रूप से घायल हो गया। आसपास के लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से घायलों को जिला अस्पताल भेजा। कार व बाइक को कब्जे में लेकर दीवानगंज पुलिस चौकी भेज दिया। जिला अस्पताल में डॉक्टरों ने महजबीन को मृत घोषित कर दिया। किस्मत अली की हालत गंभीर देख प्रयागराज रेफर कर दिया। मृतका का शव लेकर परिजन घर चले गए। खबर मिलते ही परिजन रोते-बिलखते अस्पताल पहुंचे। चौकी प्रभारी दीवानगंज ने बताया कि तहरीर नहीं मिली है। चालक कार छोड़कर भाग गया था।
एक महीने पहले ही हुआ निकाह 
रानीगंज थाना क्षेत्र के बुढ़ौरा निवासी किस्मत अली का 7 जून को महजबीन से निकाह हुआ था। गौना नहीं गया था। निकाह के बाद दोनों बातचीत करते थे। महजबीन की तबियत खराब चल रही थी। उसने फोन कर किस्मत को बुलाया। ताकि वह पट्टी में अपना इलाज कराने पति के साथ जा सके। दोनों ने जीवन साथ गुजारने का सपना देखा था, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। किस्मत अपनी ससुराल नहीं जाता था। इसलिए उसने ससुराल से कुछ दूर अपनी पत्नी को बुलवाया था। वहां आने पर दोनों उपचार के लिए ससुराल में मिली बाइक से चल पड़े। दोनों को यह नहीं पता था कि यह सफर आखिरी है।
पांच बहनों का दुलारा है किस्मत
रानीगंज थाना क्षेत्र के बुढ़ौरा निवासी इसरार की पांच बेटी व दो बेटे हैं। पांच बहनों का किस्मत दुलारा भाई है। वह पिता के साथ ट्रक चलाना सीखा। परिवार की माली हालत ठीक न होने के कारण किस्मत अली भी ट्रक चलाने लगा। निकाह के बाद वह घर पर रुक गया।
मां के साथ सुबह दवा लाई थी महजबीन
महजबीन को बुखार था। इसलिए वह अपनी मां के साथ मंगलवार की सुबह दवा लाई थी। दवा खाने के बाद घर का खाना भी बनाया। पति से बात हुई तो वह उसे पट्टी इलाज कराने के लिए लेकर चलने की बात कहा। इसलिए महजबीन पति के साथ जाने के लिए घर से निकली थी। उसके सिर में लगी चोट ने उसकी जान ले ली। फिलहाल उसकी मौत से गांव में कोहराम मचा रहा।

Comments

comments

Related posts:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here