युवक की हरकत से आउटर पर एक घंटे खड़ी रही इंटरसिटी ट्रेन

0
119

प्रतपागढ़ से कानपुर को जा रही इंटरसिटी ट्रेन शनिवार को उस समय अचानक बीच रास्ते में रुक गई, जब इंजन में छिपकर बैठे एक युवक ने उपकरणों से छेड़छाड़ की। इससे करीब एक घंटे तक ट्रेन गंगागंज के आउटर पर खड़ी रही। हालांकि इस युवक को गाड़ी रुकते ही दबोच लिया गया। उसे गंगागंज के आउटर पर बने केबिन में बंद कर दिया गया। रायबरेली स्टेशन से पहुंची रेलवे सुरक्षा बल की टीम उसे अपने साथ ले गई, लेकिन मामले में कोई लिखापढ़ी नहीं की गई है। आरपीएफ का कहना है कि युवक मानसिक रूप से बीमार है। युवक कैसे इंजन में छिपकर बैठ गया, इस मामले में लोको पायलट की लापरवाही जरूर उजागर हुई है।

लोको पायलट वीके यादव और सहायक लोको पायलट ब्रह्मानंद भी घबरा गए कि आखिर अचानक क्या हो गया। लोको पायलट के मुताबिक ब्रेकवान वैक्यूम को ड्रॉप किए जाने से ट्रेन रुकी थी। इसकी खोजबीन की गई तो पता चला कि इंजन (डब्ल्यूडीएम) में किसी ने छेड़छाड़ की गई। इंजन के आगे वाले हिस्से में दोनों पायलट बैठे थे, जबकि इंजन के पीछे वाले हिस्से में एक युवक छिपकर बैठा था, जिसने ही ब्रेकवान वैक्यूम ड्रॉप किया।
 पायलट ने तुरंत युवक को दबोचा और इंजन से बाहर उतारा। ट्रेन के अचानक आउटर पर रुक जाने से यात्री भी घबराकर बाहर निकल आए। इसलिए युवक को आउटर के केबिन में बंद कर दिया गया। गंगागंज स्टेशन का स्टाफ भी दौड़ पड़ा।

घटना की सूचना पर पहुंची आरपीएफ ने युवक को केबिन ने बाहर निकाला और अपने साथ ले गई। करीब एक घंटे तक आउटर पर खड़ी रही इंटरसिटी ट्रेन को रवाना किया गया, जो हरचंदपुर स्टेशन पर करीब सवा घंटे की देरी से सुबह 7.49 बजे पहुंची। 

आरपीएफ के निरीक्षक आरए सिद्दीकी ने बताया कि गंगागंज के आउटर पर जाकर इंजन में छेड़छाड़ करने वाले युवक को दबोचा गया। उसकी हरकतों से लग रहा है कि वह मानसिक रूप से बीमार है। मामले में अभी तक कोई लिखापढ़ी नहीं की गई है।

Comments

comments

share it...